Join Group☝️

होम

उत्तराखंड में महिला के गले में खतरनाक जोंक ने बनाया घर , मुंह के रास्ते पहुंच गया गले तक

इंसानों का खून चूसने  वाली जोंक एक महीने से  उत्तराखंड के श्रीनगर की एक महिला के शरीर में रह रही है। यह खबर सभी को हैरान कर देने वाली है। जिससे इस महिला के मुँह से काफी समय से खून आ रहा था और उसे काफी  काफी  परेशानी हो रही थी ।

उत्तराखंड के पौड़ी जिले से एक बहुत ही आश्चर्य जनक मामला सामने आया है . उत्तराखंड के पौड़ी जिले में एक महिला लंबे समय से श्वासनली में समस्या से जूझ रही थी, जिसके कारण वह ठीक से सांस नहीं ले पा रही थी.

डॉक्टर्स ने जाँच के बताया जो बताया वह बहुत हैरान कर देने वाला था । डॉक्टर्स  के अनुसार महिला के स्वास नाली में एक जोंक न अपना घर बना लिया है ।

How to Remove a Leech: Steps, Treatment & More

इसके बाद आखिरकार डॉक्टरों ने उसके गले से खून चूसने वाली जोंक को निकालने में कामयाबी हासिल की और अब समस्या दूर हो गई है।

Brave beauty fan tries out blood-curdling leech facial... and it's definitely NOT for the faint-hearted | The Irish Sun

 

 

 

गले में थी 5 सेंटीमीटर लंबी जोंक 

उत्तराखंड के  श्रीनगर की 42 साल  की दीपा देवी को पिछले एक महीने से खून बहने की समस्या हो रही थी । जब समस्या बढ़ी तो वह श्रीनगर बेस अस्पताल के आपातकालीन विभाग में गईं। जांच के बाद डॉक्टर ने बताया की गले में  5 सेंटीमीटर लंबी जोंक थी । जिसके बाद उन्हें ओप्रशन द्वारा जोंक निकलवाने की सलाह दी गयी ।

How to safely remove a leech (or avoid them altogether) - The Manual

दूरबीन विधि से किया सफल ऑपरेशन

एचओडी रवींद्र बिष्ट ने जांच की तो पाया कि महिला की सांस की नली में एक जिंदा जोंक फंसी हुई थी। जोंक निकालने के बाद दूरबीन से महिला का ऑपरेशन किया गया। यह एक सफल प्रक्रिया साबित हुई।

The Best Way To Remove A Leech And Treat The Wound

डॉक्टरों ने बताया कि महिला के मुंह से जोंक निकल गया था। इसके कारण उसके मुंह से एक महीने तक लगातार खून बहता रहामहिला के गले में जिंदा जोंक फंसी हुई थी। सर्जरी के दौरान जोंक को निकाल दिया गया और महिला अब स्वस्थ है।

Advertisement
Back to top button
दून की शैफाली ने होम डेकॉर को दिया नया रूप , देखकर बन जायगा आपका दिन उत्तराखंड के इस अद्भुत मंदिर में पातालमुखी हैं शिवलिंग,यही माता सती ने त्यागे थे प्राण इस मतलबी दुनिया में ये बैंक भर रहा है भूखे,असहाय लोगों का पेट , हल्दवानी के इस बैंक को आप भी कीजिये सलाम सिलबट्टे को पहाड़ी महिलाओं ने बनाया स्वरोजगार , दिया खाने में देशी स्वाद का तड़का श्री नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारा है सिखों का तीसरा सबसे पवित्र तीर्थ स्थल, जानिए क्या इसकी खासियत