Join Group☝️

होम

PAYTM QR Code at Kedernath Badrinath: बदरी-केदार मंदिर लगे QR कोड से को किसने लगाया , किसके खाते में रहे थे दान किये पैसे , मंदिर समिति अनजान , पुलिस कर रही है जांच

PAYTM QR Code at Kedernath Badrinath: चारधाम यात्रा हाल ही में उत्तराखंड में शुरू हुई है और कई भक्त अपने सकारात्मक अनुभव साझा कर रहे हैं। हालांकि, केदारनाथ धाम में कपाट खुलने के दौरान क्यूआर कोड के जरिए दान का अनुरोध करने वाला साइन बोर्ड लगा हुआ था, जिससे बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति को थोड़ी चिंता हुई. नतीजतन, समिति ने पुलिस को सूचित करके मामले की जांच का अनुरोध करते हुए कार्रवाई की है।

बीकेटीसी के अध्यक्ष अजेंद्र अजय विनम्रता से बताते हैं कि शुरुआत में धामों के खुलने के दिन क्यूआर कोड बोर्ड लगाए गए थे। हालांकि, उनकी उपस्थिति को देखते हुए, बीकेटीसी के अधिकारियों ने तुरंत उन्हें हटा दिया। इसके बाद कमेटी के अधिकारियों ने जांच की, लेकिन कोई सबूत नहीं मिला। नतीजतन, उन्होंने अब सम्मानजनक तरीके से पुलिस में शिकायत दर्ज की है। PAYTM QR Code at Kedernath Badrinath

Kedarnath: रात 11 से सुबह पांच बजे तक हो रही पूजाएं, दान के लिए Qr कोड बोर्ड लगाने पर बीकेटीसी सख्त - Kedarnath: Pooja Being Done From 11 To 5am Bktc Strict

मंदिर समिति ने कहा प्रयोग नहीं किया जाता

केदारनाथ मंदिर के प्रभारी अधिकारी ने बदरीनाथ के प्रभारी अधिकारी के अधिकार से तहरीर को केदारनाथ पुलिस चौकी और कोतवाली में स्थानांतरित कर दिया है.

Kedarnath Shrine Opens with Paytm at its Doors for Digital Donations | Paytm Blog

समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय के अनुसार, बीकेटीसी द्वारा अपने संचालन में पेटीएम का उपयोग नहीं किया जाता है। PAYTM QR Code at Kedernath Badrinath

सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

जिस दिन केदारनाथ धाम खोला गया था, उस दिन मंदिर के बाहर पेटीएम का एक क्यूआर कोड बोर्ड लगाया गया था, जो विशेष रूप से उनके प्लेटफॉर्म के माध्यम से डिजिटल दान का अनुरोध कर रहा था। हाल ही में इस क्यूआर कोड को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ चिंता हुई है।

Paytm on Twitter: "As pioneers of QR and mobile payments in India, we have enabled digital donations at the doors of the #Kedarnath temple & devotees can be seen scanning the Paytm

जल्दी ही ये  सोशल मीडिया पर यह खबर वायरल हो गयी , जिसके बारे में माना जाता है कि यह मंदिर के लिए दान प्रणाली से जुड़ा हुआ है।  कुछ लोग इसे डिजिटल धन उगाहने के तरीकों को अपनाने के लिए मंदिर समिति का मज़ाक उड़ाने के अवसर के रूप में उपयोग कर रहे हैं।

दिलचस्प बात यह है कि ऐसा लगता है कि बाबा केदार के मंदिर के पास क्यूआर कोड लगाया गया था, हालांकि मंदिर समिति को इसकी जानकारी नहीं थी.

Indian Fintech Paytm Now Allows Kedarnath Temple Devotees To Make Digital Donations Through Paytm QR

इस बारकोड की फोटो सोशल मीडिया में वायरल कर इसका मजाक उड़ा रहे थे कि मंदिर समिति अब डिजिटल माध्यम से भी दान ले रही है। यहां हैरान करने वाली बात यह है कि बाबा केदार के मंदिर के ठीक सामने यह बड़ा सा क्यूआर कोड डाला गया था, लेकिन मंदिर समिति को इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी। PAYTM QR Code at Kedernath Badrinath

मंदिर समिति अध्यक्ष ने केदारधाम पहुंचकर लिया यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा। मंदिर परिसर, ईशानेश्वर मंदिर, प्रस्तावित निर्माणाधीन राॅवल ...

अब इस बारकोड की जानकारी को लेकर मंदिर समिति के अधिकारी रिकॉर्ड दर्ज कर रहे हैं। सवाल यह भी उठ रहा है कि केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के दिन cm पुष्कर सिंह धामी भी पहुंचे थे, तब किसी ने क्या नहीं देखा?। क्यूआर कोड से किसी न किसी ने तो दान भी कर दिया तो यह दान किसके खाते में गया ? PAYTM QR Code at Kedernath Badrinath

Advertisement
Back to top button
दून की शैफाली ने होम डेकॉर को दिया नया रूप , देखकर बन जायगा आपका दिन उत्तराखंड के इस अद्भुत मंदिर में पातालमुखी हैं शिवलिंग,यही माता सती ने त्यागे थे प्राण इस मतलबी दुनिया में ये बैंक भर रहा है भूखे,असहाय लोगों का पेट , हल्दवानी के इस बैंक को आप भी कीजिये सलाम सिलबट्टे को पहाड़ी महिलाओं ने बनाया स्वरोजगार , दिया खाने में देशी स्वाद का तड़का श्री नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारा है सिखों का तीसरा सबसे पवित्र तीर्थ स्थल, जानिए क्या इसकी खासियत