Join Group☝️

उत्तराखंडयात्रा

बदल गया है हल्द्वानी-काठगोदाम से चलने वाली दो ट्रेनों का रूट , यहाँ देखें पूरी जानकारी

रेलवे ने काठगोदाम और हल्द्वानी के बीच यात्रा करने वाले यात्रियों या यहां से ट्रेनों में यात्रा करने वाले सभी यात्रियों के लिए एक हालिया अपडेट साझा किया है। इन स्थानों के बीच अब चलने वाली दो ट्रेनों के रूट में बदलाव किया गया है।

Kathgodam railway station - Wikipedia

शाहजहांपुर रेल खंड में दो रेलवे स्टेशनों के निर्बाध कार्य के चलते इन ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान मार्ग में बदलाव किया गया है. बताया जा रहा है कि यह अनसुलझा काम फिलहाल छह से 12 अप्रैल तक चलेगा।

पूर्वोत्तर रेलवे के तीन स्टेशनों की विदाई तय, जानें-कहां के हैं ये रेलवे स्‍टेशन Gorakhpur News - North Central Railway will include three stations of North Eastern Railway

उत्तर पूर्व रेलवे के इज्जतनगर रेल मंडल ने सूचित किया है कि 9 और 10 अप्रैल को लखनऊ जंक्शन से काठगोदाम जाने वाली लखनऊ-काठगोदाम एक्सप्रेस दूसरे रूट यानी शाहजहांपुर पीलीभीत-भोजीपुरा से काठगोदाम पहुंचेगी.

12 Departures from Kathgodam NER/North Eastern Zone - Railway Enquiry

 

10, 11 अप्रैल को काठगोदाम से लखनऊ जाने वाली काठगोदाम-लखनऊ एक्सप्रेस भोजीपुरा-पीलीभीत-शाहजहांपुर होकर चलेगी।

Kathgodam Lucknow express train got cancelled for two days - Haldwani Live

 

इसके अतिरिक्त 10 अप्रैल को काठगोदाम से कानपुर जाने वाली गरीबरथ एक्सप्रेस भोजीपुरा-पीलीभीत-शाहजहांपुर होकर चलेगी।

KGM - CNB Garib Rath Express - काठगोदाम टू कानपुर गरीब रथ एक्सप्रेस का रूट और टाइम टेबल बदला, पढ़ें खबर

जबकि 11 अप्रैल को कानपुर सेंट्रल से काठगोदाम जाने वाली गरीबरथ एक्सप्रेस बदले हुए रूट से काठगोदाम जाएगी. यह ट्रेन शाहजहांपुर-पीलीभीत-भोजीपुरा होते हुए काठगोदाम जाएगी।

Advertisement
Back to top button
दून की शैफाली ने होम डेकॉर को दिया नया रूप , देखकर बन जायगा आपका दिन उत्तराखंड के इस अद्भुत मंदिर में पातालमुखी हैं शिवलिंग,यही माता सती ने त्यागे थे प्राण इस मतलबी दुनिया में ये बैंक भर रहा है भूखे,असहाय लोगों का पेट , हल्दवानी के इस बैंक को आप भी कीजिये सलाम सिलबट्टे को पहाड़ी महिलाओं ने बनाया स्वरोजगार , दिया खाने में देशी स्वाद का तड़का श्री नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारा है सिखों का तीसरा सबसे पवित्र तीर्थ स्थल, जानिए क्या इसकी खासियत