Join Group☝️

उत्तराखंड के इस होनहार ने ऑस्कर अवॉर्ड में बढ़ाया देश का मान , पिता के सपने को किया सच

उत्तराखंड के युवा आज देश विदेश में देवभूमि कानाम ऊँचा  कर रहे हैं  । युवा आज हर क्षेत्र अपने हुनर डंका  बजा रहे हैं । हम अपने लेखों  के माध्यम से आपको इनसे रूबरू  करवाते रहते  हैं ।

इसी  क्रम में आज हम आपको एक ऐसे युवा  से मिलवा रहे हैं जिसने विश्व प्रशिद्ध ऑस्कर अवार्ड में स्थान प्राप्त करके देवभूमि को गौरवंगीत किया है .

Oscar Award:उत्तराखंड के करन थपलियाल की धमक, पिता ने पकड़ाया था कैमरा, बेटे के हुनर ने ऑस्कर में नाम कमाया - Oscar Award 2023: The Elephant Whisperers Documentary Shot By ...

हम बात कर रहे हैं  पौड़ी के नौगांव के करन थपलियाल की,  जिन्होंने पिछले साल, सिनेमैटोग्राफी द्वारा “राइटिंग विद फायर” नामक एक डॉक्यूमेंट्री को  ऑस्कर के लिए नामांकित किया गया था। और  इस साल “द एलिफेंट व्हिस्पर” को ऑस्कर अवॉर्ड दिया गया  है। जिसके लिए उन्होंने काम किया है ।

ऑस्कर अवार्ड समारोह में उत्तराखंड के पौड़ी जनपद के बेटे का इकबाल हुआ बुलंद - Lokjan Today
“द एलिफेंट व्हिस्पर्स” ने इस साल लघु फिल्म वृत्तचित्र के लिए ऑस्कर जीता। इसने पूरी दुनिया में लोगों को भारत पर गर्व महसूस कराया और  भारत का गौरव बढ़ाया है।

Oscar Award:उत्तराखंड के करन थपलियाल की धमक, पिता ने पकड़ाया था कैमरा, बेटे के हुनर ने ऑस्कर में नाम कमाया - Oscar Award 2023: The Elephant Whisperers Documentary Shot By ...


आपको बता दें कैमरे के पीछे “द एलिफेंट व्हिस्परर्स” में लाल करण थपलियाल ने काफी मेहनत की थी। नेटफ्लिक्स ने “द एलिफेंट व्हिस्परर्स” नामक एक वृत्तचित्र का निर्माण किया गया है । यह कार्तिकी गोंजाल्विस द्वारा निर्देशित और गुनीत मोंगा द्वारा निर्मित है।

उत्तराखंड के करन थपलियाल ऑस्‍कर में छाए, 15 साल से सिनेमेटोग्राफी कर रहे करन - DAILY NEWS UK

कहानी एक हाथी से संबंधित है जिसे छोड़ दिया जाता है और फिर देखभाल करने वालों द्वारा ले जाया जाता है। फिल्म में हाथी और देखभाल करने वाले एक मजबूत बंधन और  अटूट रिश्ते को दिखाया गया है ।

Karan Thapliyal – Movies, Bio and Lists on MUBI

करण पौड़ी जिले के नौगांव से हैं। वह वर्तमान में अपने परिवार के साथ दिल्ली में रह रहे हैं, लेकिन उनके पिता भी एक फोटोग्राफर थे। करण द्वारा शूट की गयी  डॉक्यूमेंट्री फिल्म “द एलिफेंट व्हिस्परर्स” ने ऑस्कर जीता। करण ने यह  डॉक्यूमेंट्री फिल्माकर हमें दिखाया कि वह अपने कैमरे से क्या कमाल कर सकते हैं।

उत्तराखंड- पहाड़ के बेटे ने मचा दिया ऑस्कर में धमाल, पौड़ी के करन की डॉक्यूमेंट्री ऑस्कर में छाई - Devbhoomi Khabar Network
करण ने अपने पिता से कैमरों के बारे में बहुत कुछ सीखा और फिर इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने का फैसला किया। उन्होंने फिल्म वृत्तचित्रों के लिए पूरी दुनिया की यात्रा की है, और उनका काम कई बार खबरों में रहा है।

Sambit Patra on Twitter: "Vande Bharat - one of the leading growth engines of New India is now being powered by Nari Shakti. Smt. Surekha Yadav Ji is the first woman loco

 

करण को पिछले साल उनकी डॉक्यूमेंट्री राइटिंग विद फायर के लिए ऑस्कर के लिए नामांकित किया गया था, लेकिन वह जीत नहीं पाए। 2018 में, उनकी डॉक्यूमेंट्री द प्रेसिडेंट्स बॉडीगार्ड को नेट जियो पर प्रसारित किया गया था जिसे काफी पसंद किया गया था ,

Freelance Cinematographer | Karan Thapliyal Cinematography

करण वास्तव में उत्तराखंड से काफी लगाव  है और जब भी उसके पास समय होता है तो वे यहाँ  आ  जाते  है। उन्हें उत्तराखंड के परिधान और यहाँ के पहाड़ी खाने का ख़ासा लगाव है ।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दून की शैफाली ने होम डेकॉर को दिया नया रूप , देखकर बन जायगा आपका दिन उत्तराखंड के इस अद्भुत मंदिर में पातालमुखी हैं शिवलिंग,यही माता सती ने त्यागे थे प्राण इस मतलबी दुनिया में ये बैंक भर रहा है भूखे,असहाय लोगों का पेट , हल्दवानी के इस बैंक को आप भी कीजिये सलाम सिलबट्टे को पहाड़ी महिलाओं ने बनाया स्वरोजगार , दिया खाने में देशी स्वाद का तड़का श्री नानकमत्ता साहिब गुरुद्वारा है सिखों का तीसरा सबसे पवित्र तीर्थ स्थल, जानिए क्या इसकी खासियत